S Jaishankar Speech LIVE | S jaishankar’स वायरल स्पीच ात कोलंबिया यूनिवर्सिटी

Hp printer

भारतीय विदेश मंत्री डॉ. सुभ्रमण्यम जयशंकर ने कोलंबिया यूनिवर्सिटी में अपने एक व्यापक और दृढ़ भाषण के माध्यम से एक महत्वपूर्ण सार्थक संदेश पहुंचाया। इस भाषण में उन्होंने विश्वभर में भारत की नीतियों, विचारशीलता, और उदारता के प्रति अपने दृष्टिकोण को साझा किया।

विदेश नीति पर चर्चा: जयशंकर ने भाषण की शुरुआत भारत की विदेश नीति पर चर्चा करके की। उन्होंने यह बताया कि भारत विभिन्न संस्कृतियों, भाषाओं, और धाराओं का एक समृद्धिशील मिश्रण है और इसे एक सामंजस्यपूर्ण विश्व में अपने आत्मनिर्भरता के सिद्धांत के साथ जोड़ा जा रहा है। उन्होंने विश्वभर में सख्तता के साथ अपने राष्ट्र की उपस्थिति को बढ़ाने के लिए भारत की प्रतिबद्धता की बात की।

राष्ट्रीय एकता और विकास: उन्होंने अपने भाषण में भारतीय समाज की एकता और विकास को बढ़ावा देने के लिए सरकार के प्रयासों की चर्चा की। उन्होंने यह बताया कि भारतीय समाज की समृद्धि और सामरिक न्याय के साथ ही संभव है, और इसके लिए विभिन्न योजनाओं का अभ्यास किया जा रहा है।

विश्व मामलों पर विचार: जयशंकर ने विश्व मामलों के बारे में अपने दृष्टिकोण को साझा किया और विभिन्न राष्ट्रों के साथ भारत के संबंधों की महत्वपूर्णता को बताया। उन्होंने यह भी कहा कि समस्याओं का समाधान सहयोग और आपसी समझ के माध्यम से ही संभव है।

युवा पीढ़ी के दृष्टिकोण पर चर्चा: जयशंकर ने भाषण के दौरान युवा पीढ़ी की भूमिका को बड़े आकर्षक तरीके से उजागर किया। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी समस्याओं का समाधान निकालने के लिए सकारात्मक दृष्टिकोण रखने में सक्षम है और उन्हें उत्साह और समर्थन की आवश्यकता है।

समापन: इस अद्भुत भाषण से स्पष्ट है कि डॉ. सुभ्रमण्यम जयशंकर ने

Leave a Comment

bdnews55.com